अनुष्ठान

किसी भी कामना की पुर्ति हेतु किया गया आध्यात्मिक कर्म ही अनुष्ठान कहलाता है

अनुष्ठान

शिवशक्ति सेवा संस्थान एवं धर्मार्थ ट्रस्ट

graphic footer

किसी भी कामना की पुर्ति हेतु किया गया आध्यात्मिक कर्म ही अनुष्ठान कहलाता है इसमें विपरीत मार्ग से किया गया अनुष्ठान सकाम सात्विक अनुष्ठान होता है तथा विपरीत (तंत्र मार्ग ) से कामनात्मक किया गया अनुष्ठान तामस अनुष्ठान कहलाता है | सदाचारी मनुष्यों को विविध कामनाओं से विविध अनुष्ठानो को करना चाहिए कुछ विशेष कामनाओं की पूर्ति हेतु निम्न अनुष्ठान बतलाये गए हैं